सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना: बालिका को उच्च शिक्षा व शादी के लिए मिलेंगे ₹20,000 रुपए

बालिकाओं की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास जी ने सन 2019 में मुख्यमंत्री सुकन्या योजना को शुरू किया था। लेकिन सन् 2022 मे मुख्यमंत्री सुकन्या योजना को सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना में संशोधित कर दिया गया है। इसलिए अब वर्तमान में राज्य की बालिकाओं को पूर्व की तरह मुख्यमंत्री सुकन्या योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा बल्कि इसके स्थान पर लाभार्थी बालिकाओं को सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना का लाभ दिया जाएगा।

इस योजना के तहत बालिकाओं को 8वीं कक्षा से लेकर 12वीं कक्षा तक आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। राज्य के कुछ जिलों में इस योजना का लाभ देने की शुरुआत भी कर दी गई हैं। झारखंड के निवासी हमारा यह आर्टिकल अवश्य पढ़ें। क्योंकि आज हम आपको अपने इस आर्टिकल में नीचे इस योजना से जुड़ी हर एक बात बताने जा रहे हैं जिसे पढ़कर आप अपनी बालिका को Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojana का लाभ आसानी से दिलवा सकते हैं।

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना

झारखंड सरकार द्वारा अपने राज्य की बालिकाओं को शिक्षा से जोड़ने के लिए सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना को आरंभ किया है। इस योजना के तहत 8वीं एवं 9वीं कक्षा में पढ़ने वाली लाभार्थी लड़कियों को 2500 रुपए और 10वीं, 11वीं और 12वीं में पढ़ने वाली को ₹5000 की आर्थिक सहायता दी जाएगी। इसके अलावा 18 साल की आयु पूरी कर लेने के बाद लाभार्थी बालिकाओं को ₹20000 का एकमुश्त अनुदान भी दिया जाएगा। एकमुश्त अनुदान की राशि को बालिकाएं अपनी उच्च शिक्षा या शादी में इस्तेमाल कर सकती हैं।

इस योजना के माध्यम से राज्य की SECC-2011 जनगणना के अंतर्गत शामिल 27 लाख परिवारों और 10 लाख अंत्योदय कार्ड धारक परिवारों की बालिकाओं को लाभान्वित किया जाएगा। यानी कुल मिलाकर 37 लाख परिवारों की बेटियां इस योजना के माध्यम से लाभ की प्राप्ति कर सकेंगी। Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojana 2023 के तहत लाभान्वित होकर बालिकाएं निरंतर शिक्षा प्राप्त कर सकेंगी। जिससे बाल विवाह पर रोक लगेगी और बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान को बढ़ावा मिलेगा।

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना – विवरण

योजना का नाम सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना
लाभार्थी Secc-2011 और अंत्योदय कार्ड धारक परिवारों की लड़किया
उद्देश्य किस्तों आर्थिक सहायता प्रदान करना
कुल आर्थिक सहायता₹40000 रु
राज्य जारखंड
आवेदन मोड ऑफ़लाइन
यह भी पढे :दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी 2023: विभिन्न पदों पर बम्पर भर्ती का नोटिफिकेशन जारी

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य बालिकाओं को किस्तों में आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाकर शिक्षा से जोड़े रखना है। क्योंकि राज्य की कई ऐसी बालिकाएं हैं जो शिक्षा प्राप्त करना तो चाहती हैं लेकिन अपने परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण शिक्षा प्राप्त करने से वंचित रह जाती हैं। लेकिन अब सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के माध्यम से पात्र परिवारों की बालिकाएं 8वीं कक्षा से लेकर 12वीं कक्षा तक कक्षावार वित्तीय सहायता प्राप्त करके शिक्षित हो सकेंगे। जिसके परिणाम स्वरुप राज्य में शिक्षा को बढ़ावा मिलेगा और बाल विवाह पर रोकथाम लगेगी। Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojana से प्रधानमंत्री जी के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान को भी बढ़ावा मिलेगा। जिससे राज्य में ‌ बेटियों की रक्षा व सुरक्षा के स्तर में सुधार आएगा।

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के लाभ

  • झारखंड में सन् 2019 में मुख्यमंत्री सुकन्या योजना को आरंभ किया गया था। लेकिन अब सन् 2022 में इसे संशोधित करके सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना कर दिया गया है।
  • यानी अब वर्तमान में किशोरियों/बालिकाओं को पूर्व की तरह मुख्यमंत्री सुकन्या योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा बल्कि इसकी जगह पर बालिकाओं को सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से 8वीं कक्षा से लेकर 12वीं कक्षा तक वित्तीय सहायता दी जाएगी।
  • 18 साल की आयु पूरी हो जाने के बाद लाभार्थी बालिका को ₹20000 का एकमुश्त अनुदान उनकी उच्च शिक्षा या शादी के लिए प्रदान किया जाएगा।
  • राज्य के 37 लाख परिवारों जिनमें SECC-2011 जनगणना के अंतर्गत शामिल 27 लाख परिवारों और 10 लाख अंत्योदय कार्ड धारक परिवारों की बेटियों को इस योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • Jharkhand Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojan के तहत दी जाने वाली आर्थिक सहायता की राशि सीधे बालिका के बैंक खाते में डीबीटी के माध्यम से हस्तांतरित की जाएगी।
  • इस योजना के तहत आवेदन प्रक्रिया को आंगनबाड़ी केंद्रों के माध्यम से ऑफलाइन रखा गया है। आवेदन हेतु बालिका अपनी स्कूल, प्रखंड बाल विकास परियोजना अधिकारी एवं जिला समाज कल्याण पदाधिकारी कार्यालय से भी संपर्क कर सकती हैं।
  • राज्य में यह योजना लड़कियों को शिक्षा से जुड़े रखेगी जिससे लड़कियों का भविष्य उज्जवल बनेगा।

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना की पात्रता

  • आवेदिका बालिका को झारखंड की मूल निवासी होना चाहिए।
  • SECC-2011 जनगणना के अंतर्गत शामिल और अंत्योदय कार्ड धारक परिवारों की बालिका ही इस योजना का लाभ उठाने की पात्र है।
  • अगर लाभार्थी बालिका की शादी 18 वर्ष की आयु से पहले हो जाती है तो उसे इस योजना का लाभ प्राप्त करने का अपात्र घोषित कर दिया जाएगा और उसे ₹20000 की एकमुश्त राशि भी नहीं दी जाएगी।
  • अवेदिका का बैंक खाता होना चाहिए और वह आधार कार्ड से लिंक होना हो।

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • अंत्योदय कार्ड
  • SECC-2011 के अंतर्गत शामिल होने का प्रमाण पत्र
  • स्कूल जाने का प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • बैंक खाता विवरण
यह भी पढे : NDRF भर्ती 2023: सब इंस्पेक्टर के पदों पर भर्ती का नोटिफिकेशन जारी

आवेदन कैसे करे

  • सबसे पहले आपको अपने नजदीकी आंगनबाड़ी केंद्र से सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना का आवेदन पत्र प्राप्त करना है।
  • इसके बाद आपको आवेदन पत्र में मांगी गई सभी आवश्यक जानकारियों को ध्यानपूर्वक पढ़कर भरना है।
  • सभी जानकारियों को भरकर आपको आवेदन पत्र से सभी आवश्यक दस्तावेजों को अटैच करना है।
  • अब आपको इस पत्र को प्रखंड विकास पदाधिकारी और जिला समाज कल्याण पदाधिकारी के कार्यालय में जाकर सबमिट करना है।
  • इस तरह से आप सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के तहत अपना आवेदन कर सकते हैं।

महत्वपूर्ण लिंक

HomePage Click Here

Leave a Comment