बिहार राज्य फसल सहायता योजना: इस योजना के तहत रु. 7500 से 10,000 तक की मिलेगी सहाय

Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana (फसल बीमा योजना बिहार) : नमस्कार दोस्तों स्वागत करता हूं मै अपने इस आर्टिकल में जैसा कि मैं आपको बता दूं कि प्राकृतिक आपदाओं के कारण किसानों को कई बार ऐसा होता है कि उनकी फसल का नुकसान हो जाता है और इसी वजह से राज्य के किसान को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ता है जिससे कि वह सही से खेती नहीं कर पाते इन सभी समस्याओं को समाधान करने के लिए बिहार सरकार के द्वारा Bihar Rajya Fasal Sahayata Scheme (बिहार राज्य फसल सहायता योजना) को आरंभ कर दिया गया है आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के अंतर्गत Fasal Bima Yojana 2022 से जुड़ी सारी जानकारी बताने जा रहे हैं जैसे कि बिहार राज्य फसल सहायता योजना क्या है, इसके लाभ क्या है, इसका उद्देश्य क्या है, इसके विशेषताएं तथा इसके पात्रता आवेदन करने के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज किया लगेगा आवेदन करने की प्रक्रिया क्या है यह सभी जानकारी आप सभी को हम अपने इस आर्टिकल में बताने जा रहे हैं तो आप सभी से यह निवेदन करते हैं कि आप कृपया कर हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें जिससे आप भी Bihar Rajya Fasal Sahayata Scheme (बिहार राज्य फसल सहायता योजना) के अंतर्गत आवेदन कर इसका लाभ उठा सकें।

बिहार राज्य फसल सहायता योजना

Bihar Fasal Bima Yojana (फसल बीमा योजना बिहार) के अंतर्गत बिहार में खेती करने वाले सभी किसानों की फसल प्राकृतिक आपदाएं या किसी भी तरह की आपदा इसे खराब या बर्बाद हो जाती है जैसे कि बाढ़ के कारण सूखा पड़ जाने के कारण इत्यादि सभी कारण अगर उनका फसल नुकसान हो जाता है तो ऐसी स्थिति में सरकार के द्वारा उन्हें आर्थिक सहायता दिया जाता है बिहार राज्य फसल सहायता योजना के अंतर्गत किसानों की फसल की वास्तविक उत्पादन में से 20% तक का नुकसान होने पर प्रति हेक्टर ₹7500 रुपया दिया जाएगा और यदि नुकसान का 20% से अधिक हो जाता है तो इस अवस्था में उन सभी को प्रति हेक्टेयर ₹10000 दिए जाएंगे इस योजना के अंतर्गत दी जाने वाली जो धनराशि होगी वह सीधे उनके किसान के बैंक अकाउंट में पहुंचा दिया जाएगा। Bihar Fasal Sahayata Yojana (फसल बीमा योजना बिहार) के तहत आवेदन करने के लिए किसानों का बैंक अकाउंट होना अनिवार्य है जो कि आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए।

बिहार राज्य फसल सहायता योजना – विवरण

योजना का नाम बिहार राज्य फसल सहायता योजना
विभाग सहकारिता विभाग
लाभार्थी राज्य के किसान
उद्देश्य फसलों में हुआ नुकसान से बचाने के लिए किसान की आत्मनिर्भरता
बढ़ाने की लिए राज्य में खेती को बढ़ाबा देने की लिए
सहायता राशि 7500 से 10,000
योजना का प्रकार राज्य सरकार की योजना
यह भी पढे : लाड़ली लक्ष्मी योजना: गरीबी रेखा से नीचे आते परिवारों को ₹1 लाख की राशि दी जाएगी

बिहार राज्य फसल सहायता योजना का उद्देश्य

बिहार राज्य फसल सहायता योजना का उद्देश्य है कि बिहार के जितने भी किसान जिनकी फसल बाढ़ या सूखा पड़ जाने के कारण या किसी भी प्रकृतिक आपदा उसे अगर उनके फसल का नुकसान होता है तो उसके लिए राज्य सरकार के द्वारा सभी किसानों को आर्थिक सहायता दिया जाता है और आगे भविष्य में अच्छी से खेती करने के लिए उनको प्रोत्साहित भी किया जाता है मौसम की मोड़ से फसलों के नुकसान का सामना करने वाले लाखों किसानों को Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana 2022 के तहत उन लाखों किसानों को इस योजना का लाभ दिया जाएगा और किसानों को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाने के लिए सरकार के द्वारा प्रयास किया जा रहा है इस उद्देश्य को पूरा करने के लिए राज्य सरकार ने इस योजना को आरंभ किया है।

बिहार राज्य फसल सहायता योजना की विशेषताए

  • Bihar Fasal Sahayata Scheme को बिहार सरकार के द्वारा बिहार के किसानों के लिए स्कोर आरंभ किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से किसानों को फसल बीमा का लाभ दिया जाएगा।
  • यदि किसी प्राकृतिक आपदा जैसे की बाढ़, सूखा या किसी प्रकृतिक आपदा इत्यादि के कारण फसल की बर्बादी हो जाती है तो किसानों को इस योजना के तहत आर्थिक सहायता दिया जाता है।
  • इस योजना के अंतर्गत किसानों को ₹7500 प्रति हेक्टेयर से 20% तक का नुकसान होने पर दिया जाएगा।
  • ₹10000 प्रति हेक्टर 20% से अधिक की फसल नुकसान होने के कारण किसानों की आर्थिक स्थिति के लिए दिया जाएगा।
  • यदि आप धान मक्का इत्यादि की खेती करते हैं तो आप जल्द से जल्द ऑनलाइन आवेदन करके इसका लाभ उठा ले।
  • ऑनलाइन आवेदन करवाने की प्रक्रिया 18 मई 2021 से आरंभ हो रही है।
  • फसल बीमा योजना बिहार की ऑनलाइन आवेदन 31 जुलाई 2021 तक चलेगी।

बिहार राज्य फसल सहायता योजना का लाभ

  • फसल बीमा योजना बिहार का लाभ राज्य के उन किसानों को दिया जाएगा जिन की फसलों को प्राकृतिक आपदा या किसी मौसम की परिस्थिति के कारण उनकी फसल को नुकसान पहुंचा है।
  • बिहार राज्य फसल सहायता योजना 2022 के तहत राज्य के सभी किसानों की फसलों की वास्तविक उपाधि दर में 20% तक का नुकसान होने पर प्रति हेक्टेयर की दर से ₹7500 की धनराशि सरकार के द्वारा दी जाएगी।
  • बिहार राज्य के किसानों की फसल की वास्तविक उपज में 20% से अधिक नुकसान होने पर प्रति हेक्टेयर की दर से ₹10000 तक की धनराशि दी जाएगी।
  • राज्य सरकार के द्वारा किसानों की फसलों को मौसम बाज या सुखार होने के कारण उनके फसल के नुकसान की भरपाई के लिए सहायता धनराशि सभी लाभार्थी के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर किया जाएगा। इसके लिए आवेदक का बैंक अकाउंट होना चाहिए जो कि आधार कार्ड से लिंक हो।

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • बैंक की पासबुक
  • बैंक का विवरण
  • खेती कर रहे जमीन के कागजात
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

योजना की पात्रता

  • आवेदन करने वाला लाभार्थी बिहार राज्य का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • फसल बीमा योजना बिहार (Bihar Fasal Sahayata Scheme) के अंतर्गत वही किसान आवेदन कर सकता है जिनकी फसल हो प्राकृतिक आपदा या मौसम के किसी कारण से बर्बाद हुई हो।
यह भी पढे : मुख्यमंत्री सौर स्वरोजगार योजना: सौर ऊर्जा पावर प्लांट लगाने के लिए राज्य सरकार देगी सहाय

आवेदन कैसे करे

Bihar Fasal Bima Yojana के तहत जो इच्छुक लाभार्थी ऑनलाइन आवेदन करना चाहता है वह लाभार्थी नीचे दिए गए तरीकों को जो हम दे रहे हैं उसको स्टेप बाय स्टेप फॉलो करके आवेदन कर सकते हैं और इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको बिहार राज्य फसल सहायता योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक रजिस्ट्रेशन का ऑप्शन दिखाई देगा आपको उस पर क्लिक कर देना होगा और उस विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • उसके बाद आपको कंप्यूटर स्क्रीन पर एक नया फेस खुलकर आएगा जिसमें आपको आधार है या नहीं उसका ऑप्शन दिखाई देगा अगर आपके पास आधार है तो आधार है के ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • आधार कार्ड के है के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा उस पेज पर आप से आधार नंबर पूछा जाएगा।
  • इसके बाद आप अपना आधार नंबर भर दे और अपना नाम भरना होगा और सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं।

महत्वपूर्ण लिंक

HomePage Click Here

1 thought on “बिहार राज्य फसल सहायता योजना: इस योजना के तहत रु. 7500 से 10,000 तक की मिलेगी सहाय”

Leave a Comment