बिहार उद्यमी योजना: बिहार के अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के नागरिक को 10 लाख रुपए तक की राशि प्रदान की जाएगी

नमस्कार दोस्तों स्वागत करता हूं मैं आप सभी को अपने इस आर्टिकल में जैसा कि आप सभी को बता दो सरकार के द्वारा हमारे देश में रोजगार के अनुपात में सुधार लाने के लिए बहुत से ऐसे योजना संचालन की जा रही है जिससे कि सभी गरीब नागरिकों को रोजगार का अवसर प्राप्त हो सके और ऐसे ही बिहार के सरकार के द्वारा एक नई योजना को आरंभ की गई है जिसका नाम बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना है इस योजना से जुड़ी सारी जानकारी आपको हम अपने इस आर्टिकल के माध्यम से देने जा रहे हैं तो आप कृपया कर हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें और आप इस योजना से जुड़ी सारी जानकारी हमारे इस आर्टिकल से प्राप्त कर सकते हैं जैसे कि बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना क्या है इस योजना का उद्देश्य क्या है लाभ विशेषताएं पात्रता और आवेदन करने की प्रक्रिया क्या है महत्वपूर्ण दस्तावेज कौन से लगेंगे इत्यादि सभी जानकारी अगर आप प्राप्त करना चाहते हैं तो कृपया कर हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें जिससे आप भी Bihar Mukhyamantri Udyami Yojana 2023 से जुड़ी सभी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप हमारे इस आर्टिकल को अन तक पढ़ी और आवेदन करके इसका लाभ उठाएं।

बिहार उद्यमी योजना

इस योजना को बिहार की सरकार ने सभी अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति वर्ग के नागरिकों के लिए आरंभ किया गया है इस योजना के माध्यम से सरकार के द्वारा उद्योग स्थापित करने के लिए नागरिकों को 1000000 रुपए तक का प्रोत्साहन राशि दी जाएगी इस योजना के तहत सरकार के द्वारा उद्योग को प्रोत्साहन देने के लिए आरंभ किया गया है। जिससे कि वह अपना खुद का उद्योग आरंभ कर सकेंगे। Bihar Mukhyamantri Udyami Yojana 2023 के तहत जितने भी बेरोजगार नागरिक हैं उन सभी को रोजगार देकर विरोध बेरोजगारी की दरों में कमी आएगी तथा अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के नागरिकों को आर्थिक सहायता प्राप्त हो सकेगा जिससे कि अपना खुद का उद्योग आरंभ कर पाएंगे। Mukhyamantri Udymi Yojana के लिए बिहार सरकार ने 102 करोड़ का बजट निर्धारित किया गया है।

उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के लिए बिहार सरकार द्वारा Mukhyamantri Udyami Yojana 2023 आरंभ की गई थी। इस योजना के माध्यम से अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के नागरिकों को ₹1000000 की आर्थिक सहायता उद्योग के लिए प्रदान की जाती है। अब इस योजना का लाभ प्रदेश के युवाओं को भी प्रदान किया जाएगा। प्रदेश के वे सभी लोग जिनकी आयु 18 वर्ष से 50 वर्ष के बीच है वह इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थी को 10+2 या इंटरमीडिएट, आईटीआई, पॉलिटेक्निक डिप्लोमा या समकक्ष होनी चाहिए। Bihar Mukhyamantri Yuva Udhyami Yojana 2023 के माध्यम से प्रदेश की बेरोजगारी दर में भी गिरावट आएगी। इस योजना के माध्यम से प्राप्त हुई 10 लाख रुपए की राशि में से युवाओं को केवल ₹500000 रुपए वापस करने होंगे एवं ₹500000 का अनुदान सरकार द्वारा प्रदान किया जाएगा। ₹500000 की राशि पर युवाओं को 1% ब्याज का भुगतान करना होगा। इस योजना का संचालन बिहार के उद्योग विभाग द्वारा किया जाएगा।

बिहार उद्यमी योजना – विवरण

योजना का नाम बिहार उद्यमी योजना
किसने लॉन्च की बिहार सरकार
लाभार्थी बिहार के अनुसूचित जाति तथा
अनुसूचित जनजाति के नागरिक
उद्देश्य उद्योग स्थापित करने के लिए बढ़ावा देना
प्रोत्साहन राशि 10 लाख रुपए

बिहार उद्यमी योजना का उद्देश्य

Mukhyamantri Udymi Yojana का मुख्य उद्देश्य है कि राज्य में जितने भी लघु एवं सूक्ष्म उद्योग है उन सभी को बढ़ावा दिया जाएगा और इस योजना के माध्यम से अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के नागरिकों को सरकार के द्वारा आर्थिक सहायता दी जाएगी जिससे कि वह अपना व्यापार आरंभ कर सकेंगे। Mukhyamantri Udymi Yojana के माध्यम से बेरोजगारी दर में गिरावट लाया जाएगा और इसी के साथ अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के युवाओं को बेहतर आजीविका प्राप्त हो सकेगी।

यह भी पढे : राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना: इस योजना के तहत सरकार द्वारा ₹30000 का मुआवजा उपलब्ध कराया जाएगा

प्रोत्साहन राशि

जैसे की आप सभी लोग जानते है कि बिहार सरकार ने 19 अप्रैल को बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना को आरम्भ करने की मंज़ूरी दे दी है | इस योजना के अंतर्गत प्रोत्साहन राशि के रूप में Bihar Mukhyamantri Udyami Yojana के अंतर्गत सभी लाभार्थियों को 10 लाख रुपए प्रदान किए जाएंगे। इन 10 लाख रुपए में से 5 लाख रुपए अनुदान के रूप में प्रदान किए जाएंगे तथा 5 लाख रुपए ब्याज मुक्त लोन के रूप में प्रदान किए जाएंगे।

बिहार सरकार ने उद्योगों के अनुसार वित् वर्ष में राज्य के युवाओ को अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए 10 लाख रूपये की अनुदान धनराशि 2 समान किश्तों में प्रदान करने का फैसला लिया है। जिसे लाभार्थी को 84 किस्तों में अदा करना होगा। इस योजना के अंतर्गत बिहार सरकार ने 200 करोड़ रूपये का बजट निर्धारित किया है। यदि आप इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो आपको ऑनलाइन आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा।

बिहार उद्यमी योजना का लाभ ओर विशेषताए

  • बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के तहत उद्योगों की स्थापना के लिए सरकार 10 लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि देगी।
  • इस योजना का लाभ केवल अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के नागरिक ही प्राप्त कर सकते हैं।
  • बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के माध्यम से बिहार सरकार उद्योग जगत को प्रोत्साहित करने का प्रयास कर रही है।
  • यह योजना से बेरोजगारी दर में कमी लाने में भी सहायक होगी।
  • इस योजना के माध्यम से अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के नागरिकों की आर्थिक स्थिति में भी सुधार होगा।
  • बिहार सरकार ने Bihar Mukhyamantri Udyami Yojana 2023 के लिए 102 करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया है।
  • इस योजना के तहत 10 लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि में से 5 लाख रुपये अनुदान के रूप में और 5 लाख रुपये ब्याज मुक्त ऋण के रूप में प्रदान किए जाएंगे।
  • यह योजना उद्योगों को बढ़ावा देकर बेरोजगारी दर में भी कमी लाएगी ।
  • इस योजना के माध्यम अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के नागरिकों को बेहतर आजीविका मिलेगी।
  • लाभार्थी को अपने लिए गए ऋण राशि 84 किश्तों में जमा करनी होगी।
  • मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के अंतर्गत मिलने वाला ऋण ब्याज मुक्त होगा।
  • इतना ही नहीं सरकार प्रशिक्षण और परियोजना निगरानी के लिए ₹25000 प्रदान किए जाएंगे।
  • ऋण प्राप्त करने के लिए किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक से लाभार्थी द्वारा स्व-घोषणा अनिवार्य है।

योजना की पात्रता

  • आवेदक बिहार का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए करंट अकाउंट होना बहुत ही अनिवार्य है।
  • प्रोपराइटरशिप फर्म उद्यमी द्वारा अपने निजी पैन पर किया जा सकता है।
  • आवेदक की उम्र न्यूनतम 18 से लेकर अधिकतम 50 वर्ष के बीच होना चाहिए।
  • केवल प्रोपराइटरशिप फर्म पार्टनरशिप फॉर्म एलबी अथवा प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ही इस योजना का लाभ उठा सकती है।
  • आवेदक की शिक्षित योगिता टेन प्लस टू या इंटरमीडिएट आईटीआई पॉलिटेक्निक डिप्लोमा या समकक्ष उत्तर होना चाहिए।
  • आवेदक अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अति पिछड़ा वर्ग महिला या युवा श्रेणी से होना चाहिए।

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड : Aadhar Card
  • मैट्रिक प्रमाण पत्र : Matriculation Certificate
  • इंटरमीडिएट या समक्ष योगिता प्रमाण पत्र : Intermediate Or Equivalent Examination Certificate
  • करंट अकाउंट निर्गत तिथि साक्षी के साथ : Current Account Statement With Date Witness
  • हस्ताक्षर का नमूना : Sample Of Signature
  • पैन कार्ड : Pan Card
  • पासपोर्ट साइज फोटो : Passport Size Photo”
यह भी पढे : असम पुलिस भर्ती 2023 : 12वीं पास पर आबकारी कांस्टेबल पदों पर बम्पर भर्ती, 49,000 तक मिलेगा वेतन

आवेदन कैसे करे

  • सबसे पहले आपको उद्योग विभाग बिहार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने इसका होमपेज खुलकर आएगा।
  • इस के होम पेज पर आपको पंजीकरण के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक का नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको निम्नलिखित जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • आपका नाम
  • ईमेल आईडी
  • लिंग
  • मोबाइल नंबर
  • आधार कार्ड
  • आवेदन का प्रकार
  • इसके बाद आपको ओटीपी प्राप्त करें कि ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको ओटीपी को ओटीपी बॉक्स विधायक आना होगा।
  • इसके बाद आप को सत्यापित करें कि ऑप्शन पर क्लिक करना है।

महत्वपूर्ण लिंक

HomePage Click Here

1 thought on “बिहार उद्यमी योजना: बिहार के अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के नागरिक को 10 लाख रुपए तक की राशि प्रदान की जाएगी”

Leave a Comment